खेत खलिहान

बेमौसम बादल घिरने से प्राकृतिक प्रकोप की आशंका किसानों की चिंता बढ़ी

मजदूरों की कमी से किसानों फसलों की कटाई मडाई प्रभावित

जीटी-7, डिजिटल न्यूज़ नेटवर्क कानपुर मंडलब्यूरो रिपोर्ट रामप्रकाश शर्मा।
05 अप्रैल 2024

#औरैया।

पिछले 3 दिनों से अचानक बेमौसम बादलों क उमड़ने घुमड़ने से प्राकृतिक प्रकोप होने की आशंका से किसानों की खेतों में कटाई मड़ाई के लिए तैयार खड़ी रबी की फसलों के साथ खासकर लहसुन प्याज आदि विभिन्न फसलों पर संकट आने की आशंका से किसानों की चिंता और बेचैनी काफी बढ़ी हुई है। खेतिहर मजदूरों की कमी के फसलों की कटाई मड़ाई में व्यवधान उत्पन्न हो रहा है। किसान रात दिन एक करके गर्मी की परवाह किए बिना स्वयं फसलों को समेटने में लगे हुए हैं।
इन दिनों किसानों की रबी की फसल खेतों में पकी तैयार खड़ी हुई है वहीं दूसरी ओर लहसुन प्याज आदि फसलों की खुदाई भी होनी है किंतु इसके बावजूद किसानों को काम के लिए मजदूर ढूंढे नहीं मिल रहे हैं कृषि कार्य बुरी तरह प्रभावित हो रहा है। यही नहीं किसानों की रबी की प्रमुख फसल उनके साल भर के खाने-दाने के साथ ऊपरी खर्च भी चलाती है किंतु अचानक मौसम का मिजाज बिगड़ने के साथ ही आसमान में बेमौसम बादलों के उमड़ने घुमड़ने से फसलों पर किसी प्राकृतिक प्रकोप होने की आशंका से किसानों की चिंता और बेचैनी काफी बढ़ी हुई है। आलम यह है कि किसान भीषण गर्मी की परवाह के बिना स्वयं रात दिन एक करके अपनी फसलों की कटाई मडाई में लगे हुए हैं। लोगों को मानना है कि यदि बेमौसम बारिश या कोई प्राकृतिक प्रकोप हुआ तो किसानों की बड़ी बर्बादी होने की बात से इंकार नहीं किया जा सकता है।

Global Times 7

Related Articles

Back to top button